freedom fighter mukhtar abbas ansari sajag nagrikk times sanata

आजादी के दिवाने, भाग ८ .मुख्तार अहमद अंसारी

Freedom fighter part 8. Mukhtar Ahmed Ansari सजग नागरिक टाइम्स:Freedom fighter :देशाच्या स्वातंत्र्यात कॉंग्रेसच्या आंदोलनाला एक भव्य इमारत म्हणाल तर मुख्तार अहमद अंसारी त्या इमारतीचा भक्कम पाया आहेत. मुख्तार अहमद अंसारी देशाच्या स्वातंत्र्यता आंदोलनातील विसरता न येणारे अध्याय आहेत. तरीही दुःखाची बाब आहे की स्वतःला धर्मनिरपेक्ष म्हणून सादर करणाऱ्या विचारसरणीने त्यांचे योगदान नष्ट करण्याचा ‘जाणीवपूर्वक’ प्रयत्न केला. हा आरोप देशातील नामवंत प्राध्यापक मुशीरूल हसन लावतात. अंसारी परिवाराच्या योगदानाला अनुल्लेखाने पुसण्यात आले आहे. स्वातंत्र्यता आंदोलनात केवळ…

0 comments
nikah photo sajag nagrikk times/sanata

इस्लाममध्ये विवाह बंधन नव्हे एक करार आहे.

  जगातील विविध धर्म आणि संस्कृतीमध्ये विवाह एक पवित्र बंधन किंवा एक पवित्र नाते आहे. इस्लाम जगातील सर्वात शेवटचा आणि आधुनिक संदेश असल्याने त्याला ही भूमिका मान्य नाही. इस्लामने विवाह संस्थेत कित्येक आमूलाग्र बदल केले. त्यापैकीच एक मुलभूत बदल म्हणजे त्याने विवाहाच्या पवित्र बंधन असण्याच्या संकल्पनेवरच घाव घातला आहे. इस्लाम विवाहाला एक बंधन नव्हे तर एक करार मानतो. इस्लामने केलेल्या या बदलांना समजण्यापूर्वी आपल्याला विवाह संस्कृतीचा संक्षिप्त इतिहास पाहावा लागेल. Marriage: भारतीय संस्कृती: वास्तविक्त: भारतीय…

0 comments

जानिये भारतरत्न मौलाना अबुल कलाम आज़ाद कोन थे ?

राजनेता स्वतंत्रता सेनानी मौलाना अबुल कलाम आज़ाद  जन्म: 11 नवम्बर, 1888 निधन: 22 फरवरी, 1958 सजग नागरिक टाइम्स:उपलब्धियां: 1923 और 1940 में कांग्रेस के अध्यक्ष, स्वतंत्र भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री। मौलाना अबुल कलाम आज़ाद का असली नाम अबुल कलाम ग़ुलाम मुहियुद्दीन था। वह मौलाना आज़ाद के नाम से प्रख्यात थे। मौलाना अबुल कलाम आज़ाद भारत के प्रमुख स्वतंत्रता सेनानियों में से एक थे। वह एक प्रकांड इस्लामी विद्वान के साथ-साथ एक कवि भी थे।…

0 comments

•हम अपनी तन्हाईयों को जितना पाकीज़ा रखेंगे उतना हम अल्लाह के क़रीब होते जाएंगे।

  सजग नागरिक टाइम्स :क्या आप जानते हैं के अल्लाह ताला ने हज़राते सहाबा-ए-कराम को एक बार किस तरह इम्तिहान में डाला.. जब के वोह हालत-ए-अहराम में थे, हज-ओ-उमरा की हालत में शिकार की मनाही होती है। इम्तिहान इस तरह हुआ के शिकार उनके लिए इतने क़रीब पहुंचा दिया के अगर वोह चाहते तो वोह बग़ैर हथियार के भी हाथ से ही शिकार पकड़ सकते थे। `क़ुरआन में है के *ऐ ईमान वालों अल्लाह तुम्हें…

0 comments

नोटबंदी चा प्रवास व त्याच्या आठवणी

सजग नागरिक टाइम्स“पानवाले के बँक खाते में आये पाच करोड रुपये, इन्कम टॅक्स जांच करेगा !” अशी बातमी आजच टीव्हीवर ऐकायला मिळाली. नोटाबंदीच्या एक आठवड्यानंतरची टीव्हीवरील एक बातमी अचानक आठवली. उत्तरप्रदेशमधील एका छोट्या गावात ‘हेअर सलून’ चालवणारा मुन्ना नावाचा एक साधा माणूस. त्याच्या बँक खात्यात ९९ करोड ९९ लाख ९९ हजार ९९९ रुपये जमा झाल्याचा मॅसेज फोनवर वाचून मुन्ना एकदम उडालाच. बँकेत जाऊन तडक मॅनेजरला गाठून आपली समस्या सांगितल्यावर त्याला कळलं कि, कुणीतरी त्याच्या खात्यात…

0 comments

आप (सल्ल°) की तशरीफ़ आवरी से पहले की जहालत और जलालत का आलम

सजग नागरिक टाइम्स :आप (सल्ल°) की तशरीफ़ आवरी से पहले की जहालत और जलालत का आलम ये था दुनिया तारीकी के गढे में फंस कर गर्क हो गयी थी किसी के खेत में एक ऊंटनी चली गयी जानवर हे चला गया खेत में उसके थन काट दिए इस पर जो जंग हुई हुज़ूर करीम (सल्ल) की तशरीफ़ आवरी से पहले अरब के खानदान में 63 बरस जंग लगी रही वो अरब जिसकी तहज़ीब ओ तमद्दुम…

0 comments

इस्लाम जो एक आंदोलन की तरह उठा था जिस के सामने बड़ी से बड़ी ताकत नहीं टिकती थी

सजग नागरिक टाइम्स: मुसलमान के नाम से जो कौम इस वक्त मौजूद है वह खुद भी इस हकीकत को भूल गई है और इसके आचार-व्यवहार ने दुनिया को भी यह बात भुला दी है कि इस्लाम एक आंदोलन का नाम है जो दुनिया में एक उद्देश्य और कुछ सिद्धांत लेकर उठा था और मुसलमान उस जमाअत का नाम रखा गया था जो इस आंदोलन को चलाने के लिए बनाई गई थी। आंदोलन गुम हो गया…

0 comments

निज़ाम उस्मान अली खान ने भारत सरकार को 5000 किलो सोना दिया था.

आज अगर पूछा जाए भारत के सबसे अमीर व्यक्ति कौन हर इंसान यही बताएगा Reliance कंपनी के मालिक या फिर टाटा बिरला लेकिन आपको हम कुछ ऐसी जानकारियां बताते हैं जिसे जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे जिस शक्स का नाम हम आपको बताने वाले है वो कोई और नही हैदराबाद के निज़ाम उस्मान अली खान साब है | इस बात का खुलासा खुद ब्रीटीशर्स ने किया है | मुकेश अम्बानी की संपत्ति, निज़ाम उस्मान…

0 comments

ये दिवाली ऐसी हो, जिसमे सबकी खुशियाँ शामिल हो,

दिवाली, रौशनी का त्योहार खुशियों का त्योहार, उत्सव मनाने का त्योहार खुशियाँ बाँटने का त्योहार, अपनी खुशियों और मस्ती में हम इतने खो जाते हैं की हम अपने आस-पास के किसी भी चीजो को न देख पाते न समझ पाते। दिवाली बहूत ही खूबसूरत त्योहार है, अमावस की अँधेरी रात को दीयों की रौशनी में जगमगाता….हर घर में जैसे आसमा छोड़ चाँद उतर आया हो….हर तरफ रौशनी हर तरफ खुशियाँ…. पर कोई है जो डरा…

0 comments

मुगलोनको कोसना बहुत आसान है ,अगर हिम्मत है तो इनसे बेहतर बनाकर दिखाओ

  बहुत आसान है मुगल बादशाहों को गालियां देना क्योंकि अब वे दोबारा नहीं आने वाले। बहुत आसान है यह कहना कि ताजमहल को गद्दारों ने बनाया था। बहुत आसान है यह कहना कि इतिहास बदल देंगे। मगर बहुत मुश्किल है वो करना जिससे कि लोगों का वर्तमान सुधर जाए। मुगलों ने जो इमारतें बनाई थीं, वे सदियों से सर्दी, गर्मी, बरसात, धूप, छांव सहन करने के बाद भी शान से खड़ी हैं। जबकि आज…

0 comments