सदभाव कि कामना के साथ संपन्न हूआ ईज्तेमा

WEB HOSTING OFFERsajag-advertisement-offer
Advertisement

*अमन ओ आमान के लिए ऊठे लाखो हाथ सदभाव कि कामना के साथ संपन्न हूआ ईज्तेमा.*
सजग नागरिक टाइम्स: अनवर पठाण.,बालूर ता.सेलू.परभणी हिंगोली जिल्हे का दो दिवसीय सेलू स्थानीय मदरसा परिसर में आयोजित तबलिगी जमाअत का दो दिवसीय इज्तिमा बुधवार की रात सामुहिक दुआ के साथ संपन्न हो गया। नमाज-ए-एशा से पूर्व सामूहिक दुआ हुआ। सामूहिक दुआ में हजारों मुस्लिम धर्मावलंबियों ने शिरकत की। दुआ में मुल्क की उन्नति, विकास, शांति और सद्भाव की कामना की गई। हजरत हफिज़ मंज़ूर सहाब ने दुआ कराई। इससे पूर्व इज्तिमा के आखिरी सत्र को संबोधित करते हुए उन्होंने ऊंच-नीच, जाति-धर्म विकृतियों से ग्रसित लोग एक दूसरे से नफरत करने लगे। इंसान अपनी राह से भटक चुका है। भटके हुए लोगों को नेक राह पर लाने की कवायद तबलिग जमअत के जरिए किया जा रहा है। जिस दिन इंसान अपनी इंसानियत पर कायम हो जाएगा, उस दिन दुनिया स्वर्ग बन जाएगा। हजरत हाफिज मौलाना मूबिन सहाब ने कहा इंसान खुद का वजूद को नहीं समझ पाया है। इस पूरे सृष्टि का निर्माता सिर्फ और सिर्फ अल्लाह है। इंसान जब तक अल्लाह और अल्लाह के रसूल के बताए मार्ग पर नहीं चलेगा, तब तक उसका कल्याण संभव नहीं है। एक ईश्वर के सिवाए दूसरा कोई पूज्यनीय नहीं है। अल्लाह ताआला ने इस दुनिया में 1.24 लाख नबी भेजा। नबी इंसान के महबूब (आरदणीय) है, पुज्यनीय नहीं। पूजा सिर्फ और सिर्फ एक ईश्वर की करें।

Advertisement

इज्तेमा में परभणी / हिंगोली जिले के विभिन्न क्षेत्रों से भी लोग आए हुए थे। इस्तिमा की शुरूआत बूधवार को फज्र के बाद से हुई थी। इस प्रकार दो दिनों तक अनुमंडलीय मुख्यालय में अध्यात्म का धार प्रवाहित होते रही। दुआ के बाद सारे लोग अपने-अपने गांव घर के लिए रवाना हो गए। इज्तिमा के आयोजन को लेकर पिछले एक महीने से तैयारी की जा रही थी। आसपास के लोग आयोजन की सफलता को लेकर पूरी संजीदगी से काम कर रहे थे।

Advertisement

Leave a Reply