पुणे मे ईद-ए-मिलादु्न्नबी आपसी भाईचारेसे मनाई गयी

Eid e Miladunnabi celebrated : पुणे मे ईद-ए-मिलादु्न्नबी आपसी भाईचारेसे मनाई गयी.

eid-e-miladunnabi-celebrated-in-pune-2019

सजग नागरिक टाइम्स Eid e Miladunnabi celebrated: हजरत मोहम्मद पैगंबर का जन्म इस्लामिक कैलेंडर के तीसरे महीने की रबी-उल-अव्वल के 12वें दिन हुआ था।

उनके जन्मदिन को ही ईद-ए-मिलाद/मिलाद-उन-नबी का दिन कहा जाता है।

इनके जन्म की खुशी में मुस्लिम समुद्राय मस्जिदों में दरूद पढते है, नमाज अदा करते हैं।

नात , मिलाद पढते है,और जुलूस निकालते है ,पुणे मे भी इद ए मिलादुन्नबी के मौकेपर जुलूस निकाला गया,

Advertisement

इस जुलूस का स्वागत हिंदू मुस्लिम भाई बहणोने खुशीसे किया, पुणे के कॅम्प मे लोकहित फाउंडेशन पुणे और

सजग नागरिक टाइम्स की ओरसे जुलूस मे आये हुवे महेमानोका स्वागत किया गया और सभी को पीने का पाणी,मिठाई, बिस्कीट के प्याकेट, चुडा बांटा गया,

Video देखे

इस मौकेपर लोकहित के अध्यक्ष अजहर खान, सजग नागरिक के संपादक मजहर खान, नगरसेवक अजय खेडेकर,

आसिफ पटेल,अनवर पठान,बाबर खान,मुराद शेख, गौस शेख, महेबूब पठाण,शकील शेख,नियाझ काझी, उमेर मुख्तार,नजीर शेख, रकीब खान,

Advertisement

अयान पठाण,मन्नान पठाण,अझीम बागवान उपस्थित रहकर सबका स्वागत किया.

यह भी पढ़े : Eid e Miladunnabi का जुलूस नात और मिलाद पढते हुवे निकाला गया

सजग नागरिक टाइम्स : पैगंबर मोहम्मद साहब का जन्म इस्लामिक कैलेंडर के तीसरे महीने रबी-अल-अव्वल के 12वें दिन हुआ था।

उनके जन्मदिन को ही ईद-ए-मिलाद / मिलाद-उन-नबी का दिन कहा जाता है।

इनके जन्म की खुशी में मुस्लिम मस्जिदों में नमाज अदा करते हैं। रातभर मोहम्मद को याद कर जुलूस निकालते हैं, मजलिसे निकालते हैं।

Advertisement

इसके साथ ही इस खास दिन पर पैगंबर मोहम्मद की दी गई शिक्षाओं और पैगामों को पढ़ा जाता है।

पैगंबर हजरत मोहम्मद ने ही इस्लाम धर्म की पवित्र किताब कुरान की शिक्षाओं का उपदेश दिया था।

eid-e-miladunnabi-celebrated-in-pune-2019

इसी कड़ी में जिला अयोध्या कोतवाली बीकापुर क्षेत्र अंतर्गत मोतीगंज बाजार में जश्ने ईद मिलादुन्नबी

अंजुमन सराय हक मोतीगंज के जानिब से तिरंगे के साथ जुलूस निकाला गया

Advertisement

मीर जानिब मिर्जा कलीम बेग ने बताया की 12वीं रबी उल अव्वल के मौके पर यह जश्न मनाया जाता है

यह जुलूस मोतीगंज बाजार से होते हुए पूरे गुलाब का मस्जिद होते हुए उत्तरपारा भीतरगांव मियां गंज जगदीशपुर जाकर वापस मोतीगंज बाजार में समापन होता है,अधिक पढ़े